प्रधानाचार्य का संदेश

प्रधानाचार्य  का  संदेश
प्रिय  मित्रों, 
हमारा  मानना​​है  कि  हर  बच्चा  एक  बच्चा विशेष है  और  इसलिए  
उसे  अपने  व्यक्तित्व  को  विकसित  करने  के  लिए  सर्वोत्तम  शिक्षा 
दिया जाना  चाहिए। मूल्य  आधारित  शिक्षा  कभी  भी  अपनी  
प्रासंगिकता  नहीं  खोती  है  चाहें  तकनिकी  विकास  की  जो  भी  
स्तिथि  हो | आज  शिक्षा  पूर्व  और  पश्चिम  का  सर्वश्रेष्ठ  का  संगम  है। 
हम  एक  ऐसी  युवा  पीढ़ी  बनाने  में  विश्वास  करते  हैं  जो  बड़े  
पैमाने  पर  समाज  के  प्रति  अपना  कर्तव्य  समझती  है, जो  मूल  
और  दृढ़ता  से  समर्पित  है  जहां  तक  अनुशासन  का  संबंध  है। हमारा  लक्ष्य  प्रत्येक  
बच्चे  की  अनूठी  क्षमता  को  समझने  और  विकसित  करने  के  लिए शिक्षाविदों  और  अतिरिक्त  पाठ्यचर्या  गतिविधियों  का  एक  न्यायसंगत  मिश्रण  प्रदान  करना  है।  छात्रों  में  
सौन्दार्य  बोध  और  वैश्विक  दृष्टीकोण  विकसित  करना  ताकि  वो  एक  प्रभावी  नागरिक  बने | 
देश  के  लिए  प्यार  पैदा  करना  और  उसे  पोषित  करना  और  भारतीय  होने  में  गर्व  करना।
 
प्रधानाचार्य
  कृष्णा  मूर्ति